Breaking News

to be part of supreme court is a matter of pride justice ashok bhushan birds farewell to sc

“सुप्रीम कोर्ट का हिस्सा होना गर्व की बात” : जस्टिस अशोक भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में विदाई के दौरान कहा-

 

सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर न्यायमूर्ति अशोक भूषण का आज आखिरी कार्यदिवस था। वह 4 जुलाई को सेवानिवृत्त होने वाले हैं। परंपरा के मुताबिक, भारत के मुख्य न्यायाधीश की अदालत में न्यायमूर्ति अशोक भूषण के लिए एक विदाई समारोह आयोजित किया गया था। भारत के अटार्नी जनरल केके वेणुगोपाल, विदाई के लिए सबसे पहले बोले। उन्होंने कहा कि यह सर्वोच्च न्यायालय के लिए एक “दुखद दिन” है। अटॉर्नी जनरल ने कहा कि न्यायमूर्ति अशोक भूषण ने महामारी के दौरान COVID के दौरान प्रवासी श्रमिकों की की पीड़ा को कम करने के निर्देश जारी किए हैं, और खाद्य सुरक्षा के लिए सूखा राशन, सामुदायिक रसोई आदि उपलब्ध कराने के मामले में कल उनके नेतृत्व वाली पीठ द्वारा पारित निर्देशों का हवाला दिया।

source link

About admin

Check Also

यदि दुर्घटना के समय मोटर वाहन पॉलिसी के अनुसार ‘उपयोग के उद्देश्य’ के उल्लंघन में था तो बीमा कंपनी उत्तरदायी नहीं: तेलंगाना हाईकोर्ट

“यदि दुर्घटना के समय मोटर वाहन पॉलिसी के अनुसार ‘उपयोग के उद्देश्य’ के उल्लंघन में …