Breaking News

Bar council decisions amounts to misconduct bci amends rules to improve standards of professional conduct etiquette for advocates

बार काउंसिल के फैसलों की आलोचना कदाचार के बराबर: बीसीआई ने ‘वकीलों के लिए व्यावसायिक आचरण और शिष्टाचार के मानकों में सुधार’ के लिए नियमों में संशोधन किया

 

बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने नियमों में संशोधन किया है, जिसके तहत सदस्यों द्वारा बार काउंसिल के फैसलों की ‘आलोचना’ और ‘हमले’ को कदाचार बना दिया गया है, और बार काउंसिल से अयोग्यता या निलंबन या सदस्यता समाप्त करने का आधार बना दिया गया है। संशोधित नियम को शुक्रवार (25 जून 2021) को राजपत्र में अधिसूचित किया गया। नियमों में कहा गया है कि एक वकील दैनिक जीवन में एक जेंटलमैन/जेंटललेडी के रूप में आचरण करेगा और वह कोई भी गैर कानूनी कृत्य नहीं करेगा। वह प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक या सोशल मीडिया में कोई भी ऐसा बयान नहीं देगा, जो किसी भी कोर्ट या जज या न्यायपालिका के किसी भी सदस्य के खिलाफ या राज्य बार काउंसिल या बार काउंसिल ऑफ इंडिया

source link

 

 

About admin

Check Also

यदि दुर्घटना के समय मोटर वाहन पॉलिसी के अनुसार ‘उपयोग के उद्देश्य’ के उल्लंघन में था तो बीमा कंपनी उत्तरदायी नहीं: तेलंगाना हाईकोर्ट

“यदि दुर्घटना के समय मोटर वाहन पॉलिसी के अनुसार ‘उपयोग के उद्देश्य’ के उल्लंघन में …